धान में बालियाँ निकलने के बाद ये है दूसरा और लास्ट सबसे दमदार स्प्रे

Written By

Dara Singh

धान में जब बालियाँ निकल आती है, तब हमें अधिक ध्यान देने की आबश्यकता होती है।

क्यूंकि इस समय रात में मौसम ठंडा एवं दिन में गर्म होता है।

इसलिए बिमारिओं का प्रकोप इस समय बेहद अधिक होता है।

इस समय झुलसा और शीत ब्लाइट रोग तेजी से फैलता है।

अगर आपको अपने खेत में इन रोगों में से कोई रोग दिखे तो आप नेटिवों (बायर) 100g अथबा अमिस्टार टॉप 200ml प्रति एकड़ प्रयोग करें।

अगर आपकी फसल में कोई रोग नहीं है, तो आप टेबुकोनाज़ोल  250ml अथबा   प्रोपिकोनाज़ोल 250ml प्रति एकड़ प्रयोग कर सकते हैं।

इसके साथ काले अथबा भूरे मच्चर के लिए ओशीन (pi) 100g या चैस (सिंजेन्टा) 120g प्रति एकड़ इस्तेमाल करें।

अगर मच्चर का अटैक अधिक हो तो पेक्सालोन 100ml के साथ ओशीन एवं चैस मिलाकर स्प्रे करें।

आप इन फंगीसाइड एवं कीटनाशक में से किसी भी एक को आपसे में मिलकर स्प्रे करें।